ANM Course details : योग्यता, सिलेबस, जॉब, सैलरी

Anm Course details in Hindi – दोस्तों आजके इस लेख में हम बात करने वाले है की ANM Course क्या है और आप केसे ANM Course कर सकते इस विषय पे विस्तार से बात करने वाले है साथ ही हम इस लेख में जानेंगे की ANM Course करने के लिए योग्यता बेस्ट कॉलेज सिलेबस के बारे में सही और सटीक जानकारी देने वाले है, मेडिकल फिल्ड में डोक्टर के साथ हमेशा नर्स होती है,और डोक्टर की तरह मरीजो की देखभाल करती है नर्स नर्स बनने के लिए ANM Course | GNM Course यह दोनों कोर्स बहोत ही फेमोस है।

ANM Course क्या है | ANM Course details in Hindi

ANM का पूरा नाम (Auxiliary Nurse Midwife) है ANM कोर्स भारत में नर्सिंग शिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है। यह कोर्स छात्रों को नर्सिंग के क्षेत्र में नर्स बन्ने की योग्यता प्राप्त करने की सीडी है। यहाँ ANM Course की विस्तार से जानकारी दी गई है।

ANM Course details in Hindi – ANM Course (Auxiliary Nurse Midwife) एक चिकित्सा/मेडिकल से संबंधित डिप्लोमा कोर्स है जिसमें विद्यार्थियों को सहायक नर्स के रूप में कार्य करने की शिक्षा प्राप्त होती है। यह कोर्स की अवधि आमतौर पर 2 वर्षों की होती है और इसे 12वीं कक्षा की पढ़ाई के बाद किया जा सकता है।

ANM Course क्या है | ANM Course details in Hindi

ANM Course के लिए योग्यता

  • दोस्तों ANM Course करने के लिए पहेले से ही कुच वशेष योगताये निर्धारित की गई है उनके आधार पर ही आप ANM Course में एडमिशन ले सकते है चलिए जानते है वो क्या योगताये है।
  • ANM Course में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी का महिला होना जरुरी है, क्यों की ANM Course सिर्फ महिला ही कर सकती है पुरुष ANM Course में एडमिशन नहीं ले सकते अगर आप पुरुष है और आपको नर्सिंग करना है तो आप GNM या फिर BSC नर्सिंग कर सकते है।
  • ANM Course में एडमिशन लेने के लिए मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वी क्लास पास करनी पड़ेगी और साथ है 12वी क्लास में Arts या Science Stream होना बहोत जरुरी है।
  • विद्यार्थी को 12वी क्लास में कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए।
  • ANM Course में एडमिशन लेने के विद्यार्थी को कम से कम 17 की आयु होनी चाहिए और अधिक 35 साल होना चाहिए।
  • आम तोर पे एडमिशन प्रवेश परीक्षा के आधार पे होता है लेकिन कुछ संस्थान में मेरिट के आधार पे एडमिशन होता है।

ANM Course का सिलेबस

ANM कोर्स के सिलेबस में छात्रों को स्वास्थ्य, नर्सिंग, मिडवाइफरी, बच्चों और मां की देखभाल, शैक्षणिक योजना, और सामाजिक विज्ञान में शिक्षा प्रदान करता है। यहाँ निचे ANM कोर्स के मुख्य विषयों की सूची दी गई है:

नर्सिंग फंडामेंटल्स: रोगी की देखभाल, प्राथमिक चिकित्सा, और नर्सिंग की मूल अवधारणाएँ।

मिडवाइफरी: गर्भवती महिलाओं की देखभाल, प्रसव, और नवजात शिशु की देखभाल।

शिशु और मां की देखभाल: नवजात शिशु की स्वास्थ्य देखभाल, खान-पान, और सहायता।

सामाजिक और आर्थिक विज्ञान: सामाजिक सेवा, समुदाय में स्वास्थ्य की जागरूकता, और सामाजिक विज्ञान की जानकारी।

शैक्षणिक योजना: स्कूलों और समुदाय में शिक्षा के क्षेत्र में जागरूकता, शिक्षा की योजना बनाना।

रोगियों की देखभाल: विभिन्न रोगों की पहचान, basic medicine ज्ञान, और चिकित्सा की देखभाल की अवधारणाएँ।

स्वास्थ्य शिक्षा: स्वास्थ्य संचार, रोगों से बचाव, और स्वास्थ्य संवेदना की जानकारी।

गांवों और दुर्गम क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा: गांवों में स्वास्थ्य की जागरूकता, दवाएँ, और गरीब लोगो को स्वास्थ्य सेवा।

First Year:

Nursing Fundamentals: Basic nursing care, patient hygiene, infection control, and vital signs monitoring.

Anatomy and Physiology: Human body structure and functions, including various systems such as cardiovascular, respiratory, and digestive systems.

Community Health Nursing: Introduction to community health, primary healthcare, and healthcare delivery in rural and urban areas.

Midwifery: Antenatal care, intranatal care, postnatal care, and newborn care.

Nutrition: Basic principles of nutrition, balanced diet planning, and importance of nutrition in various life stages.

First Aid: Basic first aid techniques, wound care, and emergency response.

Pharmacology: Introduction to drugs, dosage calculation, and administration of medications.

Second Year:

Child Health Nursing: Pediatric nursing care, growth and development monitoring, and common childhood illnesses.

Mental Health Nursing: Introduction to mental health, common mental disorders, and therapeutic communication techniques.

Medical-Surgical Nursing: Nursing care for patients with various medical and surgical conditions, pre and post-operative care, and medication management.

Professional Development: Ethical principles in nursing, legal aspects, and professional conduct.

Internship: Practical training in hospitals and community health settings to apply theoretical knowledge in real-life situations.

Research and Administration: Introduction to research methodologies in nursing and healthcare administration principles.

ANM कोर्स के लिए कॉलेज की लिस्ट

  • आईएनएमएन नर्सिंग स्कूल, दिल्ली
  • राजस्थान स्वास्थ्य संगठन नर्सिंग स्कूल, जयपुर
  • महाराष्ट्र स्वास्थ्य संगठन नर्सिंग स्कूल, मुंबई
  • तमिलनाडु नर्सिंग संगठन, चेन्नई
  • पंजाब नर्सिंग स्कूल, चंडीगढ़
  • केरल स्वास्थ्य संगठन नर्सिंग स्कूल, थिरुवनंतपुरम
  • गुजरात नर्सिंग स्कूल, अहमदाबाद
  • उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य संगठन नर्सिंग स्कूल, लखनऊ
  • कर्नाटक नर्सिंग संगठन, बेंगलुरु
  • आंध्र प्रदेश स्वास्थ्य संगठन नर्सिंग स्कूल, हैदराबाद

कृपया ध्यान दे : आवेदन करने से पहले कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइटों पर जांच करें, क्योंकि कई संस्थान अपने आवेदन प्रक्रिया और पात्रता मानदंडों में बदलाव कर सकते हैं।

ANM Course करने के बाद क्या क्या जॉब कर सकते है और उनकी सैलरी

ANM Course details in Hindi – ANM कोर्स पूरा करने के बाद छात्र स्वास्थ्य सेवा के कई क्षेत्रों में काम कर सकते हैं। यहाँ निचे कुच मुख्य नौकरियों की सूची है:

सरकारी अस्पतालों में स्टाफ नर्स: सरकारी अस्पतालों में स्टाफ नर्स के रूप में काम कर सकते हैं, जहाँ वे रोगियों की देखभाल करते हैं। सरकारी अस्पतालों में स्टाफ नर्स की सालाना सैलरी आमतौर पर 2 लाख से 3.5 लाख रुपये के बीच हो सकती है, जिसमें अनुभव के आधार पर कम ज्यादा हो सकती है।

मातृ और शिशु स्वास्थ्य केंद्र: मातृ और शिशु स्वास्थ्य केंद्रों में मात्रा और नवजात शिशुओं की देखभाल का काम कर सकते हैं। मातृ और शिशु स्वास्थ्य केंद्रों में काम करने वाले ANM की सालाना सैलरी आमतौर पर 1.5 लाख से 2.5 लाख रुपये के बीच हो सकती है।

गांवों और दुर्गम क्षेत्रों में स्वास्थ्य कार्यकर्ता: अधिकांश अनुपचारिक स्वास्थ्य केंद्रों में यहाँ के लोगों की स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर सकते हैं। यहाँ की स्वास्थ्य सेवा कार्यकर्ता की सालाना सैलरी आमतौर पर 1 लाख से 2 लाख रुपये के बीच हो सकती है।

स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों में नर्स: स्कूलों और कॉलेजों में स्वास्थ्य संबंधित कार्यों में नर्स के रूप में काम कर सकते हैं।

स्वास्थ्य जागरूकता प्रोग्राम्स: स्वास्थ्य जागरूकता प्रोग्राम्स के अंतर्गत स्वास्थ्य जागरूकता फैलाने का कार्य कर सकते हैं।स्वास्थ्य जागरूकता प्रोग्रामों में काम करने वाले ANM की सालाना सैलरी आमतौर पर 1 लाख से 1.5 लाख रुपये के बीच हो सकती है।

राज्य स्तरीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता: राज्य स्तरीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रूप में सरकारी स्वास्थ्य कार्यों में शामिल हो सकते हैं।

स्वास्थ्य संगठनों में परियोजना सहायक: विभिन्न स्वास्थ्य परियोजनाओं में सहायता के लिए काम कर सकते हैं।

ANM के बाद आगे कौनसा कोर्स करें

ANM Course details in Hindi – ANM कोर्स पूरा करने के बाद, आप अलग-अलग क्षेत्रों में अपने करियर को आगे बढ़ा सकते हैं। कुछ आगे के कोर्स हे जो आप ANM के बाद कर सकते हैं, वह निचे बताये गए हैं।

  • GNM (General Nursing and Midwifery)
  • B.Sc. Nursing
  • Post Basic B.Sc. Nursing:
  • मास्टर्स ऑफ नर्सिंग (M.Sc. Nursing)
  • Dietetics and Nutrition
  • बीएचएस (Bachelor of Health Science)

ANM कोर्स के फायदे

  • ANM Course details in Hindi – ANM Course करने के बाद आप एक नर्स कहलाते है और हॉस्पिटल या फिर प्राइवेट जगह पे जॉब कर सकते है।
  • इस कोर्स को करने के बाद आपको मरीजो की सेवा करने का मोका मिलेगा खासकर गांवों में।
  • ANM कोर्स करने वाले व्यक्ति मातृ और शिशु स्वास्थ्य की देखभाल में विशेषज्ञता प्राप्त करते हैं और गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की सहायता कर सकते हैं।

Conclusion

दोस्तों ANM Course Details in Hindi इस लेख में हमने ANM Course के बारे में पूरी जानकारी दी हे हमें आशा हे की आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा अगर आपके मन में ANM Course से जुडा कोई भी सवाल हो तो कमेन्ट बॉक्स में हमें जरुर बताये हम आपकी पूरी सहायता करेंगे।

Hello Friends આ વેબસાઈટ Hindietc.com - We Gujarati Team દ્વારા સંચાલન થાય છે આ વેબસાઈટ પર સરકારી અપડેટ - નવી આવનારી ભરતીઓ - બિજનેસ આઈડિયા અને ગુજરાતના ટ્રેન્ડીંગ ટોપિક વિષે માહિતી આપે છે એક દમ જડપી અપડેટ મેળવવા whatsapp ગ્રુપમાં આજે જ જોડાઓ,

Leave a comment

Join Whatsapp Group